Sun. Jun 23rd, 2024

लातेहार/गारू :- जिले के बूढ़ा पहाड़ के छत्तीसगढ़-झारखंड सीमा स्थित जंगल में आइडी ब्लास्ट होने के कारण एक चरवाहा टुन्नू यादव 35 वर्ष की मौत हो गयी


बूढ़ा पहाड़, छत्तीसगढ़-झारखण्ड सिमा में आइडी ब्लास्ट के कारण एक चरवाहे की मौत

 

लातेहार/गारू :- जिले के बूढ़ा पहाड़ के छत्तीसगढ़-झारखंड सीमा स्थित जंगल में आइडी ब्लास्ट होने के कारण एक चरवाहा टुन्नू यादव 35 वर्ष की मौत हो गयी है।बताया जाता है कि शनिवार को टुन्नू यादव अपने जानवर को चराने के लिए बूढ़ा पहाड़ जंगल की ओर गया हुआ था।इसी बीच शाम में उसके पैर के नीचे लैंडमाइन्स पड़ जाने के कारण उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। घटना पीपर ढाबा बूढ़ा पहाड़ पर जाने वाले रास्ते में जोक पानी के पास घटी है। यह जगह छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिला में पड़ता है। माओवादियों ने शव को निकाल कर मृतक के परिजनों को सौंप दिया है। हालांकि आइडी ब्लास्ट होने से ग्रामीण की मौत की पुष्टि किसी पुलिस पदाधिकारी ने नही की है।जबकि आइडी ब्लास्ट होने की सूचना पुलिस अधीक्षक प्रशांत आनंद ने की है। घटना के संबंध में उन्होंने बताया की जानकारी के अनुसार बूढ़ा पहाड के आस-पास एक ग्रामीण टुन्नू यादव अपनी मवेशी को चराने गया था। इसी बीच पहले से माओवदियों द्वारा लगाये आइडी की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी। ज्ञात हो कि लाटू और बूढ़ा पहाड के जंगलों में माओवादियों ने भारी मात्रा में सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने के उदे्श्य से आइडी लगा रखा है। बूढ़ा पहाड़ के आस पास नक्सलियों ने काफी मात्रा में आइडी लगाया है। छत्तीसगढ़-झारखंड सीमा होने के कारण यह स्पष्ट नही है कि किस जगह आइडी ब्लास्ट हुआ है।आगे बताया कि छत्तीसगढ़-झारखंड सीमा के अलावा गढ़वा जिला की सीमा भी नजदीक है।ग्रामीण की मौत का पता लगाया जा रहा है। एसपी ने कहा कि इस तरह की कार्रवाई हुई होगी तो माओवादियों की कायरता पूर्ण कार्रवाई है।आईडी ब्लास्ट में ग्रामीण के अलावा पुलिस बल भी मारे जा रहे हैं।एसपी ने कहा कि नक्सलियों के खिलाफ पुलिस ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान भी चला रही है।

Related Post