झारखंड के माननीय मुख्यमंत्री जी,  झारखंड के जनता पर आपके शासन, या शोषण?

0
345

झारखंड

लगातार 15 माह से, कोविड-19 करोना वायरस के कारण, आर्थिक तंगी का दंश झेल रहे,

दैनिक मजदूर, ठेका मजदूर, रिक्शा चालक, ठेला खोमचा चालक, सैलून ब्यूटी पार्लर संचालक, फेरीवाला, लोकल बस ऑटो चालक, छोटे दुकानदार, रेडीमेड दुकानदार, मॉल के कामगार, आदि लाखों की संख्या में हैं,

स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह जो लगातार बढ़ाई जा रही है, इस अवस्था में, क्या झारखंड सरकार, विशेष राहत पैकेज दे रही है?

माननीय मुख्यमंत्री जी,

बिजली बिल माफ नहीं? पानी बिल माफ नहीं? बैंक का लोन माफ नहीं? किसानों का लोन माफ नहीं? छोटे कारोबारियों का लोन माफ नहीं? हेलमेट जांच अभियान में पकड़े जाने पर माफ नहीं?

इससे जनता क्या कहेगी? आपका शासन या शोषण? मुख्यमंत्री जी, मुझे लगता है कि, स्वस्थ सुरक्षा सप्ताह के दरमियान आम जनता को विशेष सहायता पैकेज सरकार की ओर से उपलब्ध नहीं कराई जा रही है, ऐसे विषम परिस्थिति में आम जनता कोरोनावायरस से भी घातक, तिल तिल मरने को मजबूर हैं, जबकि आपके सरकार के मंत्री मस्त है, जनता द्वारा चुने गए मंत्रियों का जनता से कोई सरोकार नहीं, तभी तो कोरोनावायरस के चेन को तोड़ने के लिए सरकार के द्वारा बनाए गए नियमों को ताक में रखते हुए, किसी समुदाय विशेष को ध्यान में रखकर, 3 दिन का छुट दी गई है, कोरोनावायरस संक्रमण जात पात और मजहब नहीं देखता, इस छूट के बाद, झारखंड में, करोना विस्फोट भी हो जाए तो कोई बड़ी बात नहीं, आपके इस वोट की राजनीति का खामियाजा तो जनता को ही भुगतना पड़ेगा,

ऐसे भी कोविड-19 करोना संक्रमण, तुरंत समाप्त होने वाली बीमारी नहीं है, सामान्य जनजीवन को, करो ना संक्रमण से संघर्ष करते हुए, चलना पड़ेगा,