झारखंड में 18 प्लस वालों को 14 से लगेगी वैक्सीन, CM सोरेन ने किया ऐलान

0
319

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को ऐलान किया कि राज्य में 14 मई से 18 से 44 वर्ष के लोगों का नि:शुल्क टीकाकारण शुरू होगा। उन्होंने कहा कि झारखंड के सभी लोगों को निशुल्क वैक्सीन दिलाना हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने यह घोषणा पलामू और संताल परगना के सांसदों व विधायकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण की समीक्षा के दौरान की। उन्होंने कहा कि केंद्र से जैसे-जैसे वैक्सीन मिलेगी उसे लोगों तक पहुंचाया जाएगा। सीएम ने सांसदों और विधायकों से टीकाकारण को लेकर गांवों में फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए जागरूकता फैलाने के लिए आगे आने का आग्रह किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से मृत्यु चिंताजनक है।

उन्होंने सांसदों और विधायकों से कहा कि वह विभिन्न माध्यमों विशेषकर सोशल मीडिया का उपयोग कर लोगों को सर्दी-खांसी, बुखार होने पर आइसोलेट कर कोरोना मानकर उपचार शुरू करने के लिए जागरूक करें। आइसोलेट होने से परिवार के दूसरे या आसपास के लोग भी बचेंगे।

जून अंत तक आरटीपीसीआर रिपोर्ट जल्द आने लगेगी : मुख्यमंत्री ने राज्य में जांच रिपोर्ट में देरी के कारण संक्रमण के प्रसार की चिंता पर जताते हुे कहा कि जून अंत तक इस समस्या का समाधान हो जाएगा। राज्य में आठ स्थानों पर आरटीपीसीआर मशीनें लगाई गई हैं। बड़ी संख्या में जांच करने वाली कोबास मशीनों को लगाने का प्रयास तेज गति से चल रहा है और जून अंत तक इनसे जांच शुरू हो जाएगी और उसके बाद जांच रिपोर्ट जल्द मिलने लगेगी।

रिटायर्ड डॉक्टर रखे जाएंगे : मुख्यमंत्री ने कहा कि सूबे में इलाज के लिए डॉक्टर, नर्स और पैरा मेडिकल स्टाफ की कमी दूर की जाएगी। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से सहयोग मांगते हुए कहा कि वह अपने क्षेत्र में रिटायर्ड डॉक्टरों की सेवा लेने के लिए अपना सिफारिश भेंजे। सरकार इस पर जल्द निर्णय लेगी।

संक्रमण दर में कमी आई : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में रिकवरी लगातार बढ़ रही है। 10 दिनों में संक्रमण दर में भी कमी आयी है। आईसीयू, ऑक्सीजन युक्त बेड, जेनरल बेड की संख्या में भी वृद्धि की गयी है। अमृत वाहिनी एप एवं कोविड सर्किट के कारण अब बेड समय पर मिलने लगे हैं। ऑक्सीजन व जरूरी दवाइयों की कालाबाजारी पर रोक लगाते हुए उन्हें और सुगमता से आप तक कैसे पहुंचाया जाये, इसपर लगातार कार्य हो रहा है। कोरोना राहत किट के जरिए हर जरूरतमंद तक सभी दवाइयां समय पर पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने सांसद बीडी राम एवं अन्य के सुझाव पर हर जिले में कार्डिक एंबुलेंस तैनात करने की घोषणा की।