Sat. Apr 20th, 2024

नए साल से पहले झारखंड सरकार का बड़ा तोहफा, पुलिस और किसान को दी राहत

झारखंड सरकार ने 2021 की शुरुआत में पुलिसकर्मियों को बड़ा तोहफा दिया है. जनवरी महीने से प्रदेश के सभी पुलिसकर्मियों को एक दिन का साप्ताहिक अवकाश मिलेगा. इस दिशा में अब झारखंड पुलिस रोस्टर तैयार कर रही है. जिससे की सभी पुलिसकर्मियों को तरोताजा होने के लिए सप्ताह में एक दिन की छुट्टी दी जाएगी. जल्द ही इस दिशा में एसएसपी और एसपी ऑफिस की तरफ से गाइडलाइन जारी की जाएगी.

इससे पहले डीजीपी डीके पांडेय ने भी इसी तरह की घोषणा की थी लेकिन इसे लागू नहीं किया जा सका था. उन्होंने यह भी कहा था कि सभी पुलिसकर्मी बाकी के छह दिन आठ घंटे ही ड्यूटी करेंगे. मौजूदा वक्त में पुलिस वालों की स्थिति बेहद खराब है.

उन्हें रोजाना 10 घंटे से अधिक की ड्यूटी करनी होती है, जिससे उन्हें अपने परिवार वालों के साथ वक्त बिताने का मौका नहीं मिलता है. ट्रैफिक पुलिस की स्थिति और भी बदतर है. वो लगातार दस घंटों तक सड़कों पर खड़े खड़े ही अपनी ड्यूटी निभाते हैं.

किसानों के कर्ज भी होंगे माफ

झारखंड सरकार ने तय किया है कि वो सीमांत किसानों के लोन को माफ करेगी. इस बारे में 29 दिसंबर को घोषणा की जा सकती है. हेमंत सरकार में कांग्रेस कोटा से कृषि मंत्री बने बादल ने कहा कि हमारी सरकार अपना वादा निभाने के लिए प्रतिबद्ध है. सभी किसानों के बैंक अकाउंट आधार से लिंक किए जा रहे हैं. किसानों से मात्र एक रुपये का चार्ज लिया जाएगा और बदले में उनका कर्ज माफ कर दिया जाएगा.

झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने वादा किया था कि किसानों के 50,000 रुपये तक के कर्ज माफ कर दिए जाएंगे. अपने आखिरी बजट में झारखंड सरकार ने किसानों के कर्जमाफी के लिए 2000 करोड़ रुपये निर्धारित किए थे, लेकिन वो पर्याप्त नहीं थे.

कृषि मंत्री ने कहा कि लगभग सात लाख 61 हजार किसानों के कर्ज माफ होंगे. ये वो किसान है जिन्होंने एक अप्रैल 2014 से 31 मार्च 2020 के बीच बैंक से लोन लिए थे.

Related Post