मजदूर-किसान विरोधी है केंद्र की मोदी सरकार – राजेश, 26 की आम हड़ताल और 27 के किसान आंदोलन को सफल करने का आह्वान

0
694

गिरिडीह

26 नवंबर के राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल तथा 27 नवंबर को किसानों के सवाल पर होने वाले आंदोलन की सफलता को लेकर आज भाकपा माले ने पार्टी कार्यकर्ताओं की एक आम बैठक खंडोली में आयोजित की।

बैठक को संबोधित करते हुए माले के राज्य कमेटी सदस्य सह एआईसीसीटीयू के राष्ट्रीय पार्षद राजेश कुमार यादव ने कहा कि, केंद्र की मोदी सरकार मजदूर-किसानों के खिलाफ पूरी तरह से ताल ठोक कर उतर चुकी है। एक तरफ किसानों को कारपोरेटों का गुलाम बनाने के लिए कानून बना दिए गए हैं, वहीं श्रमिकों के भी लगभग अधिकारों को खत्म कर उनके श्रम का शोषण करने की पूरी छूट दे दी गई है। नतीजतन, आज मजदूर-किसानों की सामाजिक सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं रह गई है। इसलिए इसके खिलाफ देशव्यापी आंदोलन चल रहा है। उन्होंने लोगों से 26 और 27 के आम हड़ताल तथा किसानों के आंदोलन को पुरजोर तरीके से सफल करने की अपील की।

इधर अपने संबोधन में गिरिडीह विधानसभा प्रभारी राजेश कुमार सिन्हा ने कहा कि, देश के मेहनतकशों का हर तबका केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों से परेशान है। संगठित-असंगठित सभी क्षेत्र के मजदूर आज आंदोलन में उतर चुके हैं। श्री यादव ने 26 नवंबर की आम हड़ताल को पूरी ताकत के साथ सफल करने की अपील की।

आज की बैठक में मुख्य रूप से मनोवर हसन बंटी, पप्पू खान, मेहताब अली मिर्जा, राजेंद्र मंडल, शिवनंदन यादव, नौशाद अहमद चांद, मनोज यादव, फोदार सिंह, रामलाल मुर्मू, रामलाल मंडल, खीरू दास, मो. सलमान, मो. मिंटू, महेश वर्मा, राजू पासवान, रोहित यादव, स्वर्ण चौड़े, मनोज हांसदा, सुनील राय, श्यामलाल कोल, महेंद्र साव, मो. हबीब, सुखलाल मरांडी, कमरूद्दीन अंसारी, संजय चौधरी, बबलू दास समेत अन्य मौजूद थे।

गिरिडीह से चन्दन पाण्डेय की रिपोर्ट