Mon. Jun 24th, 2024

फर्जीवाड़ा:चाकुलिया नगर पंचायत कार्यालय में फर्जी संवेदक का भंडाफोड़, सिटी मैनेजर के बयान पर संवेदक मुकेश सिंह के खिलाफ थाना में मामला दर्ज

आरटीआई कार्यकर्ता विक्रम सिंह चौहान का आंदोलन रंग लाया

चाकुलिया:पूर्वी सिंहभूम जिला के चाकुलिया नगर पंचायत क्षेत्र में विगत कई वर्षों से जाली दस्तावेज के आधार पर संवेदक द्वारा ठेका का काम करने का मामला उजागर हुआ है। विगत कई वर्षों से चाकुलिया निवासी संवेदक मुकेश कुमार सिंह फर्जी आचरण प्रमाण पत्र बनाकर नपं में ठेका का काम कर रहा था। , परंतु विभाग के पदाधिकारी इससे अनजान थे। मामला उजागर तब हुआ जब आरटीआई कार्यकर्ता ने मामले को लेकर आरटीआई किया। चाकुलिया के आरटीआई कार्यकर्ता विक्रम सिंह चौहान को जो मुकेश सिंह के आचरण प्रमाण पत्र पर संदेह हुआ तो उन्होंने विगत दिनों नपं कार्यालय में आरटीआई कर संवेदक के दस्तावेज देखने उसके द्वारा किए जा रहे योजना कार्य और वर्तमान में योजना की स्थिति आदि की रिपोर्ट देने की मांग की। इस कर्जे पालक पदाधिकारी ने विक्रम सिंह चौहान को कार्यालय में आकर संवेदक की

फाइल देखने की अनुमति दी। जांच के क्रम में पाया गया कि संवेदक के खिलाफ चाकुलिया थाना और श्यामसदरपुर थाना में अपराधिक मामला दर्ज होने के पश्चात थाना द्वारा उन्हें आचरण प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है।आरटीआई कार्यकर्ता ने आचरण प्रमाण पत्र की जांच करने की मांग की ताकि किस आधार पर थाना द्वारा मुकेश सिंह को आचरण प्रमाण पत्र निर्गत किया गया। जांच में पता चला कि थाना द्वारा संवेदक मुकेश सिंह के नाम पर कभी आचरण प्रमाण पत्र दिया ही नहीं गया है। इस मामले पर आरटीआई कार्यकर्ता ने फर्जी रूप से नपं कार्यालय में गलत दस्तावेज देकर काम लेने और फर्जी दस्तावेज बनाने की जांच कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग डीआईजी को ट्वीट कर मांग की। डीआईजी ने जमशेदपुर एसएसपी को मामले की जांच करने का आदेश दिया जिस पर पुलिस ने जांच में पाया कि जिस तारीख को उसने आचरण प्रमाण पत्र थाना द्वारा निर्गत दिखाया है। उस स्थिति में संवेदक की पत्नी के नाम पर थाना द्वारा आचरण प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है। आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा बार-बार डीआईजी को ट्वीट पर ट्वीट कर कार्रवाई करने की मांग की गई और उसने नपं प्रशासन द्वारा करवाई करने में गोल मटोल रवैया को देखते हुए दोबारा नपं कल बालक पदाधिकारी के नाम मांग पत्र सौंपा। ज्ञापन में कहा कि विभाग अगले 15 दिनों के अंदर फर्जी रूप से कागज पेश कर नपं मैं ठेका का काम कर रहा है संवेदक पर कानूनी कार्रवाई करें नहीं तो यह भूख हड़ताल करेंगे। आरटीआई कार्यकर्ता की इस मांग से विभाग के पदाधिकारी हरकत में आए और 3 दिनों के अंदर जांच कर नपं के कार्यपालक पदाधिकारी के आदेश पर सिटी मैनेजर मुनीश सलाम ने पुलिस थाने में संवेदक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। थाना में सिटी मैनेजर के बयान पर संवेदक मुकेश सिंह के खिलाफ कांड संख्या 50/20 मे भादवी की धारा 420, 467 ,468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस संबंध में सिटी मैनेजर ने कहा कि चाकुलिया थाना और श्यामसुंदरपुर थाना में मुकेश सिंह पर केस होने के बावजूद वह अपनी पत्नी का बना हुआ आचरण प्रमाण पत्र बनाकर तथा कोर्ट से फर्जी एफिडेविट देकर 2014 से अब तक चकिया नगर पंचायत एवं अन्यत्र ठेका लेकर गलत तरीके से काम करवा रहा था। मुकेश सिंह द्वारा करोड़ों रुपए का काम फर्जी लाइसेंस पर किया जा चुका है जिसके विरोध में थाने में मामला दर्ज कराया गया है।

घाटशिला कमलेश सिंह

Related Post