टीवी विभाग में अनुबंध पर नियुक्ति फर्जीवाड़े की एसीबी ने शुरू की जांच

0
811

जमशेदपुर:-जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा टीवी विभाग में अनुबंध पर की गई नियुक्तियों में अनियमितता की जांच एसीबी ने शुरू कर दी है। एसीबी के डीएसपी अंजनी पांडेय ने शिकायतकर्ता कुमार मनीष का बयान दर्ज किया। उन्होंने शिकायत के पक्ष में बहाली प्रक्रिया से जुड़े दस्तावेज भी लिए। टीवी विभाग के बहाली में नियमों का पालन नहीं करने और नियुक्ति में भ्रष्टाचार किए जाने की शिकायत की जांच एसीबी कर रही है।आरोप है कि बहाली में चुनिंदा आवेदकों को फायदा पहुंचाने के लिए बिना फोटो पता एवं पहचान वाला एडमिट कार्ड जारी किया गया। एक ही तिथि एवं समय पर तीन-तीन पदों के लिए परीक्षा ली गई। वही चयन समिति ने फर्जी शैक्षणिक एवं जाति प्रमाण पत्र को भी स्वीकार कर कुछ लोगों को फायदा पहुंचाते हुए भ्रष्टाचार किया है। बता दे की उपायुक्त की अध्यक्षता वाली जिला स्वास्थ समिति ने टीवी विभाग में अनुबंध पर कुल 16 पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की थी। बहाली प्रक्रिया के लिए तत्कालीन उपायुक्त रवी शंकर शुक्ला ने एसडीओ चंदन कुमार को अधिकृत किया था इस समिति में तत्कालीन सिविल सर्जन डॉ महेश्वर प्रसाद के अलावा डीटीओ दी और जिला यक्षमा पदाधिकारी समेत अन्य लोग शामिल थे। उपायुक्त रवी शंकर शुक्ला ने शिकायतों पर बहाली की जांच डीआरडीए निदेशक अनीता सहाय से कराई थी। जो अपनी जांच रिपोर्ट उपायुक्त सूरज कुमार को 1 माह पूर्व भी सौंप चुकी है। हालांकि इस रिपोर्ट पर अब तक उपायुक्त स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

* स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के फर्जी पत्र मामले में भी नहीं हुई कोई करवाई
टीवी विभाग के बहाली में बड़े पैमाने पर की गई अनियमितता की बात प्रथम दृष्टया वर्तमान सिविल सर्जन डॉ आरएन झा ने भी स्वीकार करते हुए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को अपना मंतव्य सौंपा था। इसके अलावा बहाली के मामले में ही बन्ना गुप्ता का फर्जी पत्र भी सामने आया था। जिसमें मंत्री बनना ने कड़ी कार्रवाई करने की बात कही थी हालांकि घटना के दो मार दी मामले में कोई करवाई अभी तक नहीं की गई है।