Sun. Jul 21st, 2024

पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग को लेकर तिरंगा झंडा के साथ पहुंचे टाना भगतों ने कहा कि पांचवीं अनुसूची का हो रहा खुलेआम उल्लंघन 

पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग को लेकर तिरंगा झंडा के साथ पहुंचे टाना भगतों ने कहा कि पांचवीं अनुसूची का हो रहा खुलेआम उल्लंघन

लातेहार संवाददाता राहुल पांडे की रिपोर्ट

जिले में हो रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विरोध में अखिल भारतीय टाना भगत संघ के तत्वावधान में जिले के टाना भगतों ने तिरंगा झंडा के साथ मंगलवार को लातेहार समाहरणालय पहुंचकर घन्टी बजाकर डीसी कार्यालय का घेराव किया।

उग्र थाना भगतों ने समाहरणालय स्थित कार्यालयों को बंद कराकर सभी पदाधिकारियों व कर्मियों को बाहर निकाल कर कार्यालय में ताला जड़ दिया।

 

टाना भगतों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया है कि जान बूझ कर टाना भगतों को परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि टाना भगतों को हो रही परेशानी के कारण आज तिरंगा झंडा को लेकर व घन्टी बजाकर घेराव करने को मजबूर हुए हैं। टाना भगत संघ के द्वारा पांचवी अनुसूची का हवाला देते हुए पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग की गई।

समाहरणालय में पत्रकारों से बात करते हुए अखिल भारतीय टाना भगत संघ के जिलाध्यक्ष परमेश्वर भगत ने कहा कि आदिवासियों के कई संगठनों ने जिला प्रशासन को कई बार आवेदन देकर पांचवी अनुसूची संविधान के अनुसार कार्य करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि पांचवी अनुसूची के अनुसार जिले में स्वशासन गांव का शासन चलेगा। भारतीय संविधान और कानून के अनुसार छोटानागपुर को विशेष अधिकार प्राप्त है।उन्होंने कहा कि पांचवी अनुसूची के तहत जिले में पंचायत चुनाव के आदेश देकर पंचायती राज विभाग के सचिव ने संविधान का उल्लंघन किया है।

उन्होंने कहा कि संविधान की पांचवी अनुसूची के अनुसार जिले में शासन व्यवस्था पर नियंत्रण जनजातियों के हाथों में होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव का विरोध टाना भगत संघ आगे भी करता रहेगा।

इस दौरान एसडीपीओ संतोष मिश्रा, अंचलाधिकारी रुद्र प्रताप, लातेहार बीडीओ मेघनाथ उरांव, पुलिस निरीक्षक सह लातेहार थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता व डीएन सिंह के द्वारा दल बल के साथ समाहरणालय पहुंचकर टाना भगत को समझाने का प्रयास किया जा रहा

लेकिन समाचार लिखे जाने तक टाना भगत ने अपनी मांग को लेकर घेराव में डटे हुए हैं।

Related Post