Fri. Jul 26th, 2024

सीपीआईएम का 143 प्रखंडों में प्रदर्शन, संप्रदायिक हमलों की साजिश रचने वालों पर कारवाई की मांग रांची

सीपीआईएम का 143 प्रखंडों में प्रदर्शन, संप्रदायिक हमलों की साजिश रचने वालों पर कारवाई की मांग

Ranchi: सीपीआईएम की ओर से राज्य भर मे विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया. विरोध प्रदर्शन देशव्यापी कार्यक्रम के तहत किया गया. राज्य के 15 जिलों के 143 प्रखंडों में विरोध कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस दौरान धरना प्रदर्शन और मार्च आयोजित किया गया.

सीपीआईएम के राज्य महासचिव प्रकाश विप्लव ने कहा कि किसान आंदोलन से ध्यान हटाने के लिए आरएसएस और भाजपा ने सांप्रदायिक धुव्रीकरण के एजेंडे के तहत पूरे देश मे नफरत का जहर फैलाने की साजिश तेज कर दी है. गाजियाबाद समेत देश के अलग अलग हिस्सों से ऐसी घटनाएं सामने आ रही है.

जहां गौ तस्कर के नाम पर लोगों को झुठे मुकदमे में जेल भेजा जा रहा है. सरकार को ऐसी घटनाओं के साजिश रचने वालों पर कार्रवाई करनी चाहिए.

प्रकाश ने कहा कि झारखंड मे भी भाजपा के शासनकाल मे 26 मॉब लिचिंग की खौफनाक घटनाएं हुई हैं. अल्पसंख्यक समुदाय को भय के वातावरण मे रहने को मजबूर कर दिया गया. लेकिन झारखंड मे सरकार बदलने के बाद भी राज्य में ऐसी कोशिशे जारी है.

अभी हाल में ही राजधानी रांची मे एक संडक का नाम जो काफी समय से एक अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिष्ठित व्यक्ति के नाम से है, इसका नाम बदल कर बजरंग नगर कर दिया गया और इसकी अगुवाई रांची नगर निगम के उप महापौर कर रहे थे.

जबकि किसी रोड या लेन का नाम नगर निगम मे प्रस्ताव लाकर ही किया जा सकता है. इस प्रकार उप महापौर ने एक गैर कानूनी काम किया है. कश्मीरी व्यापारियों के साथ रांची मे इस प्रकार की घटनायें पिछले दो साल मे पांच बार हो चुकी हैं.

हालांकि मुख्यमंत्री ने इस घटना के बाद सभी जिलों के एसपी को निर्देश देकर असमाजिक तत्वों पर कार्रवाई करने के लिए कहा है. लेकिन मॉब लिचिंग के पुराने मामले के पीड़ितों को राहत दिए जाने का काम बाकी है. आंदोलनों के जरिए एकजुटता पेश की जाती रहेगी जिससे उन्मादी तत्वों का मनोबल कम हो.

Related Post