ड्राइवर ही निकला लूटेरा। लूट की झूठी कहानी बनाकर ड्राइवर राशि हड़पने की फिराक में-video

0
500

दुमका :-प्रवीण कुमार

दुमका :-दिनाक 1/09/20 को सुबह 06:00 बजे दुमका मसानजोर ओ0 पी0 छेत्र के दुमका मुख्य मार्ग के पास ट्रक चालक से बिना नंबर के सफेद बोलेरो पर सवार सात अज्ञात अपराधियों के द्वारा चालीस लाख पचहत्तर हजार रुपए की छिनताई कर लेने के संबंध में दुमका मुफ्फसिल (मसानजोर) थाना कांड संख्या 122/20 दिनांक 01.09.2020 धारा 395 दर्ज किया गया एवं पुलिस अधीक्षक दुमका के द्वारा श्री राम समद पुलिस उपाधीक्षक साइबर दुमका एवं श्री विजय कुमार पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय दुमका के नेतृत्व में कांड के उद्भेदन हेतु अनुसंधान एवं छापामारी हेतु दो टीम गठित किया गया जिसमें पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मुफ्फसिल थाना दुमका पु0नि0 रामेश्वर प्रभाग थाना प्रभारी मसानजोर ओ0पी0 एवं अन्य पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मियों को शामिल किया गया गठित दोनो टीमें एक योजनाबद्ध तरीके से कांड को वैदिक करते हुए कार्य प्रारंभ किए डकैती के घटना के वादी एवं [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=bUJ3QJlxUso[/embedyt]

गवाह ट्रक ड्राइवर एवं ट्रक के खलासी से पूछताछ किया गया एवं घटनास्थल के आस पास की स्थिति का विश्लेषण दोनों टीमों द्वारा सूक्ष्मता से किया गया तो घटना के संबंध में काफी संदेहा स्पद तथ्य सामने आने लगे ट्रक ड्राइवर द्वारा घटना सुबह 6:00 बजे घटित होने के बाद बताई गई जबकि पुलिस को सूचना काफी विलंब से दिया गया और ड्राइवर एवं खलासी मसानजोर थाना होते हुए ही रानेश्वर की और गए थे जहां से उन्होंने अपने मालिक को पैसे की डकैती के बारे में फोन करके कुछ घंटे बाद सूचना दिया था इसी क्रम में टीम में शामिल पदाधिकारियों की एक छोटी टीम तकनीकी सहायता से तथ्य इकट्ठे किया । दोनों टीमों के द्वारा की गई पूछताछ तकनीकी विश्लेषण गवाहों का बयान घटनास्थल के आसपास पाए गए थे परिस्थिति जन्य साक्ष्यो के आलोक में यह पाया गया कि कथित डकैती की घटना नहीं हुई है तदोपरांत ट्रक ड्राइवर व खलासी से विस्तृत पूछताछ अलग अलग किया गया तो दोनों के बयानों में काफी विरोधाभास पाया गया । पूछताछ के क्रम में ही दोनों ने अतत: यह स्वीकार किया की डकैती की घटना नहीं हुई है बल्कि मालिक का सेथिया पहुंचाने के लिए दिया पैसा हड़पने के नीयत से डकैती की घटना का झूठा एवं मनगढत कहानी बनाया एवं प्राथमिकी दर्ज कराया था प्राप्त साक्षयो के आलोक में दोनों को गिरफ्तार किया गया एवं उनके अपराध स्वीकारोक्ति के बाद इन लोगों के निशानदेही पर इस गांड में कथित रूप से लूटे गए कुल 40 लाख 75 हजार रुपैया 2 बोरा में ड्राइवर के रिश्तेदार मनोज बागधी के घर ग्राम कुमिरदाहा थाना रानेश्वर जिला दुमका के घर से बरामद किया गया । इस प्रकार यह घटना लूट अथवा डकैती की नहीं थी बल्कि ड्राइवर एवं खलासी दोनों के द्वारा षड्यंत्र कर रुपए के गवन करने के नियत से डकैती का झूठा कहानी बनाया गया था

गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम

1. निशा बागधी उर्फ निशा कर बागधी उम्र 35 वर्ष स्वर्गीय नेपालचंद्र बागधी/ मुनई गोनपुर थाना सेथीया जिला बीरभूम (प0बंगाल)

2. विधान बागधी पिता बोदनीथ बागधी उद्योनगर बेलेमाठ थाना मोरेसर जिला बीरभूम ( प0बंगाल )